परिवर्तन के लिये क्रांति ?

Posted by admin 28/03/2017 0 Comment(s)

जैसा की हम सब जानते है कि परिवर्तन प्रकृति का नियम है और यह बात कितनी ही बार सच साबित हो चुकी है | परिवर्तन ने ही हमको आदिमानव से मानव बनाया , जंगलो से स्मार्ट सिटी में ले आये , बच्चे स्लेट से कम्प्यूटर पर आ गये , बैलगाडी से उड़ने वाली कार आ गयी , तार ओर पोस्ट कार्ड से बढकर फेसबुक और व्हाट्सअप आ गई , टेलिफ़ोन से स्मार्टफ़ोन तक आ गये आदि इस प्रकार के सैकडो उदाहरण भरे पडे है इस संसार में 

आज चारों ओर परिवर्तन की लहर चल रही है और जैसे जैसे विज्ञान तरक्की करेगा वैसे वैसे यह परिवर्तन की लहर सुनामी में तब्दील हो जायेगी उसके बाद लाखो लोगो का रोजगार छिन जायेगा  क्योंकि सभी औद्दोगिक क्षेत्रों में तीव्र गति से ओटोमैटिक काम करने वाले रोबोट लगाये जायेंगे , खेती करने के तरिको में बदलाव आयेगा , व्यापार करने के तरिके बदल जायेंगे | जैसे - फिल्पकार्ट , स्नैपडील , अमज़ोन , ओयोरूम , पैटीएम  , औला कैब आदि और परिवर्तन नहीं करने वाली कंपनियां और प्रोडक्ट उसी प्रकार मार्केट से बाहर हो जायेंगे जैसे - एंड्राइड का उपयोग न करके नोकिया बाहर हुआ , अम्बेस्ड़र कार , एचएमटी घडी आदि इस प्रकार के सैकडो उदाहरण है जो क्वालिटी में दमदार थे , मार्केट में सबसे टॉप लीडर थे फ़िर भी परिवर्तन नही करने की वजह से मार्केट से बाहर हो गये  | इसलिए जिसको भी अपने जीवन में उन्नति चाहिये उसको हमेशा परिवर्तन से प्यार करना चाहिये ।

.

 

क्योंकि हमारे गुरू जी का कहना है कि - 


   जो समय का साथ दे , वो दुनिया को मात दे ओर जो समय का साथ न दे , दुनिया उसको लात दे |